परिष्कृत आंकड़े किसे कहते हैं | आंकड़े किसे कहते है

दोस्तों आपने पढ़ते समय अक्सर इस परिष्कृत आंकड़े के नाम को तो अवश्य सुना होगा मगर क्या आपको मालूम है कि आप परिष्कृत आंकड़े किसे कहते हैं।

और आंकड़ा किसे कहते हैं अगर आप का जवाब ना है तो आप हमारे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़े क्योंकि इस लेख में हमने इसी टॉपिक पर विचार विमर्श किया है। अगर आप सच में इन दोनों आंकड़ा उनके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं,

 तो आप से मेरा यह अनुरोध है कि आप इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़े तभी आपको हमारा यह लेख अच्छे से समझ में आएगा तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए

परिष्कृत आंकड़े किसे कहते हैं

जो अंक पढ़ने में जटिल और समझने में कठिन होते हैं उन्हें ही परिष्कृत आंकड़े कहा जाता है।

दोस्तों अगर आप लोग क्षत्र होंगे तो आप लोगों ने देखा होगा कि अक्सर गणित के सवाल को हल करने में कठिन और पेचीदा आंकड़े आते रहते हैं दोस्तों उन्हीं सभी आंकड़ों को पुरस्कृत आंकड़े कहते हैं।

आप लोग जानते होंगे कि कंप्यूटर बायनरी नंबर को अच्छी तरह से जानता है और समझता है और उसकी कार्यप्रणाली में वह काफी आसान है।

 मगर उसकी जीरो की आंकड़े को समझने में हमें दिक्कत होता है हम उसके आंकड़े को पूरी तरह से नहीं समझ पाते हैं। तो उस अवस्था मे  हम कह सकते हैं कि कंप्यूटर आंतरिक परिष्कृत है।

परिष्कृत आंकड़े का अर्थ क्या होता है।

परिष्कृत आंकड़े का अर्थ कठिन और ना समझ मे आने वाले अंकों की शैली होती है। परिष्कृत आंकड़े दो शब्दो के मिलने से बना है जिस में से पहला है परिष्कृत और दूसरा है आंकड़े ।

आप  जानते होंगे कि आंकड़े अर्थ  अंकों की शुचि को कहते है । परिष्कृत आंकड़े को अंग्रेजी में refined data कहते है

अपरिष्‍कृत आंकड़े क्‍या है ?

दोस्तों हमने ऊपर के टॉपिक में परिष्कृत आंकड़े से जुड़ी कुछ जानकारी प्राप्त की अब हम जानने वाले है कि आखिर अपरिष्‍कृत आंकड़े किसे कहते हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए।

हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि अपने मूल रूप में आंकडों को अपरिष्‍कृत आंकडें कहा जाता है।

गुणात्मक आंकड़े किसे कहते हैं ?

गुणात्मक आंकड़े उस आंकड़े को संदर्भित करता है जो किसी विशेष समस्या के बारे में अंतर्दृष्टि और समझ प्रदान करता है। दोस्तों इसका अनुमान लगाया जा सकता है लेकिन पूरे तरह से गणना नहीं की जा सकती।

इस लिए, शोधकर्ता, उपयोगकर्ता के पास आंकड़ों के संग्रह से पहले विशेषता के प्रकार के बारे में पूर्ण यानी कि सारा ज्ञान होना चाहिए। तो कुछ इस प्रकार से गुणात्मक आंकड़े होता है।

आंकड़े किसे कहते हैं

एक निश्चित उद्देश्य से एकत्रित किए गए तथ्यों यानी कि (Facts) या अंकों यानी कि (Digit) को, जो  (Numeric)  यानी कि संख्यात्मक या अन्य रूप में हो सकते हैं,  वह आँकड़े कहलाते हैं।

आंकड़े कितने प्रकार के होते है।

दोस्तों आंकड़े दो प्रकार के होते है।

(i) प्राथमिक आंकड़े

(ii) द्वितीयक आंकड़े

 इन दोनों आंकड़ों के प्रकारों के बारे में हमने नीचे में स्टेप बाई स्टेप कर के लिखा है तो आप उन्हें ध्यान से पढ़ें और समझें।

प्राथमिक आंकड़े किसे कहते हैं ?

दोस्तों अगर आँकड़ों की सत्यता का उत्तरदायित्व अन्वेषक यानी कि (Responsibility Investigator) पर ही हो अर्थात् अन्वेषक खुद ही अपने दिमाग में एक निश्चित उद्देश्य को रखकर सूचनाओं को अच्छी तरह से एकत्रित करता है,

तो उस तरह के आँकड़ों को हम प्राथमिक आँकड़े कहते हैं। प्राथमिक आंकड़े कुछ इस प्रकार से होते है।

इन्हें भी पढ़े:- बिहारी सतसई का संपादन किसने किया था

द्वितीयक आंकड़े किसे कहते हैं ?

द्वितीयक आंकड़े उस द्वितीयक आंकड़े को संदर्भित करता है जो प्राथमिक उपयोग करने वाला के अलावा किसी अन्य व्यक्ति द्वारा एकत्र किया जाता है ।

आप ने देखा होगा कि सामाजिक विज्ञान के लिए माध्यमिक डेटा के सामान्य स्रोतों में जनगणना, सरकारी विभागों द्वारा अच्छी तरह से एकत्र की गई  सभी जानकारी, संगठनात्मक रिकॉर्ड और मूल रूप से अन्य शोध उद्देश्यों के लिए एकत्र किए गए डेटा भी शामिल हैं।

Also Read :- अकबारी विज्ञापन के लेखक कौन हैं ?

   [ Conclusion, निष्कर्ष ]

दोस्तो आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख परिष्कृत आंकड़े किसे कहते हैं | आंकड़े किसे कहते है  बेहद पसंद आया होगा और आप इस नेक के मदद से वह सभी जानकारी को प्राप्त कर चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे,

हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको इनसे जुड़ी जानकारी देने की कोशिश की है क्योंकि हमें मालूम है कि कई सारे लोग इन सभी सवालों के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है।

Also Read :- प्रेम वाटीका पुस्तक के रचयिता कौन है

Leave a Reply

Your email address will not be published.